Pal Pal India

मंत्रों के साथ मां पीताम्बरा 108 कुण्डीय महायज्ञ की शुरुआत

 
 मंत्रों के साथ मां पीताम्बरा 108 कुण्डीय महायज्ञ की शुरुआत

लखनऊ, 22 जनवरी। गोमती नदी के तट पर झूलेलाल घाट के सामने रविवार को मां पीताम्बरा 108 कुण्डीय महायज्ञ की शुरुआत हुई। मंत्रों के साथ रामाश्रम जी महाराज ने महायज्ञ कार्यक्रम की शुरुआत की और एक शोभायात्रा भी निकाली।

मां पीताम्बरा 108 कुंडीय महायज्ञ समिति की ओर से आयोजित 22 जनवरी से 30 जनवरी तक यह महायज्ञ चलेगा। महायज्ञ में मुख्य भूमिका निभा रहे डा.प्रवीण ने कहा कि लखनऊ और आसपास के लोगों की रचना से मां पीताम्बरा के उपासकों ने 108 कुण्डीय महायज्ञ का आयोजन किया है। इसकी समिति के सदस्यों और रामाश्रम जी महाराज की योजना से महायज्ञ का शुभारम्भ हो गया है।

उन्होंने कहा कि आज से अंतिम दिन तक छह घंटों तक महायज्ञ का कार्य होगा। मौके पर रामलीला के कलाकारों की ओर से श्रीराम के चरित्र को दर्शाते हुए लीला का मंचन भी होना है। महायज्ञ के दौरान आचार्यों द्वारा मंत्रों से यज्ञ का कार्यक्रम होगा और इसमें जजमानों की ओर से मुख्य भूमिका निभायी जायेगी। इसके साथ ही आखिरी दिन संतों का समागम होगा। देश के नाम संतों का संदेश प्रकाशित होगा।

मां पीताम्बरा 108 कुण्डीय महायज्ञ के पूर्व निकाली गयी शोभायात्रा विभिन्न स्थानों डालीगंज मार्ग, आईटी चौराहा, लखनऊ विश्वविद्यालय मार्ग, हनुमान सेतु, परिवर्तन चौक होते हुए पुन: झूलेलाल घाट के बगल में उपासना घाट पहुंचकर समाप्त हुई। इसमें मुख्य रूप से प्रशांत भाटिया, रविशंकर, धर्मशील, अभय कुमार, अमरनाथ मिश्र, विष्णु सिंह समेत अन्य लोग मौजूद रहें।