Pal Pal India

सरकार कल 26 परियोजनाओं के एमओयू पर करेगी हस्ताक्षर

सृजित होंगे 13 हजार रोजगार 
 
सरकार कल 26 परियोजनाओं के एमओयू पर करेगी हस्ताक्षर 
जयपुर, 22 जनवरी। राजस्थान में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की अध्यक्षता में राज्य में लगभग 1.36 लाख करोड़ रुपए के निवेश के लिए सोमवार को एमओयू साइनिंग सेरेमनी का आयोजन होगा। समारोह में अक्षय ऊर्जा और पर्यटन क्षेत्र की 26 परियोजनाओं के एमओयू पर हस्ताक्षर किए जाएंगे। इसकी मदद से 13000 रोजगार सृजित होने की उम्मीद है। कार्यक्रम में सीएम गहलोत के साथ ही उद्योग व वाणिज्य मंत्री शकुंतला रावत, पर्यटन मंत्री विश्वेन्द्र सिंह, ऊर्जा राज्य मंत्री भंवर सिंह भाटी समेत कई अधिकारी व मंत्री मौजूद रहेंगे।

इस आयोजन को लेकर उद्योग मंत्री शकुंतला रावत ने कहा कि राज्य के विकास के लिए सरकार निवेशकों के साथ सस्टेनेबल पार्टनरशिप बनाने के लिए प्रतिबद्ध है। इन्वेस्ट राजस्थान कैंपेन हमें अपने हितधारकों के साथ सहयोग करने और अपने वादों को पूरा करने में मदद कर रहा है। समारोह में अक्षय ऊर्जा और पर्यटन क्षेत्र की 26 परियोजनाओं के लिए एमओयू पर हस्ताक्षर किए जाएंगे, जिससे राज्य में लगभग 13 हजार प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रोजगार सृजित होंगे।

उद्योग विभाग की अतिरिक्त मुख्य सचिव वीनू गुप्ता ने कहा कि हाल ही में राजस्थान में आयोजित इन्वेस्ट समिट के प्रति उद्योग जगत का उत्साहजनक रूझान देखने को मिला है। इस एमओयू साइनिंग सेरेमनी के बाद राजस्थान में रोजगार के अवसर बढ़ेंगे। सरकार की ओर से गत कुछ वर्षों में उद्योगों की स्थापना प्रक्रिया को आसान बनाने के लिए वन स्टॉप शॉप (ओएसएस) और सेक्टर स्पेसिफिक नीतियां जैसे एनआरआर पॉलिसी 2022, हस्तशिल्प नीति 2022, एमएसएमई नीति 2022, राजस्थान स्टार्टअप नीति 2022, राजस्थान फिल्म टूरिज्म प्रमोशन पॉलिसी 2022, राजस्थान टूरिज्म पॉलिसी 2020, राजस्थान कृषि व्यवसाय नीति 2019 आरम्भ की गई है।

राज्य में अक्टूबर 2022 में राजस्थान सरकार की ओर से इन्वेस्ट राजस्थान समिट का आयोजन किया गया था। इन्वेस्ट राजस्थान समिट के तहत आयोजित राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय इन्वेस्टर्स मीट के दौरान 4,192 एमओयू और एलओआई प्राप्त हुए थे। जिन एमओयू/एलओआई पर हस्ताक्षर किए गए, उनमें से अधिकांश खनन व खनिज, कृषि एवं कृषि-प्रसंस्करण, पर्यटन, कपड़ा, इंजीनियरिंग, रसायन एवं पेट्रोकेमिकल, स्वास्थ्य एवं चिकित्सा, लॉजिस्टिक्स, ऊर्जा, हस्तशिल्प सेक्टर से थे।