Pal Pal India

नन्ही जी जान। खिलखिलाती मुस्कान। ऐसी है प्यारी सृष्टि की पहचान।

 
नन्ही जी जान। खिलखिलाती मुस्कान। ऐसी है प्यारी सृष्टि की पहचान। 

नई दिल्ली (उषा माहना) । नन्ही जी जान अपनी ऐसी ही मुस्कान के साथ सभी के चेहरे पर भी मुस्कान बिखेर रही है। बच्चो को यदि सही दिशा निर्देश दिए जाए तो वह अच्छे कार्य भी कर सकते हैं। हर बच्चे में कुछ खास होता है। कोई खिलाड़ी बनता है तो कोई गायक। कोई डांसर बनता है तो कोई छोटी उम्र में ही शिक्षक। सृष्टि की पहचान इन सबसे अलग है। नन्ही सृष्टि गुलाटी एक समाज सेवक के रूप में प्रसिद्ध हो रही हैं। अपनी इसी पहचान के साथ ही अलग अलग कार्यो के अनुसार सेवा भी कर रही है। हर सप्ताह अपने पिता प्रवीन गुलाटी के साथ फरीदाबाद के अलग अलग क्षेत्रों में जाकर सेवा कर रही हैं। इस बार सृष्टि गुलाटी द्वारा एनआईटी दशहरा मैदान की झुग्गियों ओर स्लम क्षेत्र में जाकर गर्म कपड़े, स्वेटर, जुराबें, गर्म टोपी आदि  वितरित की गई। नित नई सेवा कर रही हैं नन्ही सृष्टि गुलाटी। बाल दिवस के अवसर पर भी सृष्टि द्वारा स्लम क्षेत्र में जाकर 200 जोड़ी जुराबें वितरीत की गई थी। गर्म कपड़े और समान पाकर सभी बड़े और बच्चे बेहद खुश और उत्साहित नजर आ रहे थे। सृष्टि द्वारा सभी के साथ ओर सहयोग से सेवा का कार्य निरंतर जारी है। सभी जरूरतमंद बच्चो ओर महिलाओ को नन्ही बेटी के द्वारा गर्म कपड़े वितरित किए गए। सभी ने कहा कि हमको बहुत अच्छा लग रहा है ओर कहा कि आप बार बार यहां  आया करो। सृष्टि द्वारा सभी के चेहरे पर मुस्कान देख वह भी काफी खुश नजर आ रही थी। नन्ही बेटी के द्वारा किए जा रहे इस तरह के कार्यो को देख वहा उपस्थित लोगों में कहा कि हम सभी को मिलकर इस तरह के कार्य अपने बच्चों के हाथों से ही कराने चाहिए ताकि सभी बच्चो का मनोबल भी बड़े और बच्चा कुछ सीखे भी। नन्ही समाज सेविका सृष्टि गुलाटी के साथ आप सभी मिलकर इस तरह के कार्य करे। अपने मासूम ओर मनमोहक अन्दाज में सभी को वस्त्र वितरित करते देख सभी बच्चे भी मस्ती करने लगें। पिता प्रवीन गुलाटी ने कहा कि जिनके पास देने के लिए कपड़े या जरूरत का कुछ सामान हो तो वह हमको दे सकते हैं हम उस सामान को जरूरत मंद लोगो की दे सके।

Breaking news
राष्ट्रीय समाचार