Pal Pal India

एमबीबीएस छात्रों का धरना प्रदर्शन जारी

सरकार ने मांगें ने मानी तो आज से मेडिकल कॉलेज में ओपीडी होगी बंद
 
एमबीबीएस छात्रों का धरना प्रदर्शन जारी

करनाल, 22 नवंबर  कल्पना चावला मेडिकल कॉलेज में मंगलवार को भी एमबीबीएस विद्यार्थियों ने ओपीडी के बाहर विरोध प्रदर्शन किया। विद्यार्थियों ने ओपीडी के बाहर बैठकर धरना दिया और सरकार के खिलाफ जमकर नारे लगाए। हालांकि करनाल में ओपीडी बंद का मिला जुला असर दिखाई दिया। मेडिकल कॉलेज के इंटरनल डॉक्टरों ने भी छात्रों को समर्थन दिया। धरने पर बैठे डॉक्टरों ने कहा कि अगर सरकार आज छात्रों की मांग को पूरा नहीं करती तो कल से ओपीडी को पूर्ण रूप से बंद कर दिया जाएगा। कोई भी डॉक्टर ओपीडी में मरीजों की जांच नहीं करेगा। आज सुबह 11 बजे से दोपहर 2 बजे तक पूरे प्रदेश के सरकारी मेडिकल कॉलेज के विद्यार्थियों के समर्थन में डॉक्टरों द्वारा ओपीडी बंद करने का ऐलान किया गया था, लेकिन करनाल में ओपीडी बंद का मिला जुला असर दिखाई दिया। ओपीडी में बैठे अधिकांश डॉक्टरों ने छात्रों की हड़ताल का समर्थन नहीं किया व रुटीन की तरह मरीजों की जांच करते नजर आए। धरने पर बैठे मेडिकल विद्यार्थियों ने कहा कि 4 साल के कोर्स में उन्हें 40 लाख रुपए की फीस जमा करानी होगी। जो छात्र आर्थिक रूप से कमजोर हैं, वह एमबीबीएस का कोर्स नहीं कर पाएंगे। इस बॉन्ड नीति के खिलाफ एमबीबीएस के छात्रों में रोष है। छात्रों ने सरकार से मांग की है कि बॉन्ड नीति को वापस लिया जाए, ताकि छात्र एमबीबीएस का कोर्स आसानी से कर सकें। छात्रों का कहना है कि शासन और प्रशासन उनकी आवाज को दबाने की कोशिश कर रहा है। आपको बता दें कि करनाल सहित पूरे प्रदेशभर के सरकारी मेडिकल कॉलेजों के स्टूडेंट सरकार की नई बॉन्ड नीति का विरोध कर रहे हैं। मंगलवार को हड़ताल को 22 दिन बीत चुके हैं। पिछले 22 दिन से किसी छात्र ने पढ़ाई नहीं की। छात्रों का कहना है कि सरकार जब तक उनकी मांगों को पूरा नहीं करती, तब तक वह पीछे हटने वाले नहीं हैं। आज अगर सरकार उनकी मांगें नहीं मानती तो कल से ओपीडी बंद करने की चेतावनी दी है।

Breaking news
राष्ट्रीय समाचार