Pal Pal India

एशियन बॉक्सिंग विजेता मीनाक्षी के सम्मान समारोह में पहुंचे हुड्डा

सरकार बनने पर पदक विजेता खिलाडिय़ों को देंगे उच्च पदों पर नियुक्ति
 
एशियन बॉक्सिंग विजेता मीनाक्षी के सम्मान समारोह में पहुंचे हुड्डा

रोहतक, 21 नवंबर (दर्शन अरोड़ा)। वही देश और समाज आगे बढ़ सकता है जिसके युवा शिक्षा व खेलों में अग्रणी होंगे। यह कहना है पूर्व मुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा का। हुड्डा आज रुडक़ी गांव स्थित शहीद बतून सिंह खेल परिसर में आयोजित सम्मान समारोह में शिरकत करने पहुंचे थे। गांव वालों की तरफ से जॉर्डन में हुई एशियन बॉक्सिंग चैंपियनशिप में रजत पदक व गुजरात में हुए नेशनल गेम्स में स्वर्ण पदक जीतने पर खिलाड़ी मीनाक्षी के सम्मान में यह कार्यक्रम करवाया गया था। कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि पहुंचे भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने मीनाक्षी की उपलब्धि के लिए उन्हें हार्दिक बधाई व भविष्य के लिए शुभकामनाएं दी। साथ ही उन्होंने कोच, परिवार और गांव वालों को भी विशेष बधाई दी। उन्होंने कहा कि मीनाक्षी ने सिर्फ अपने गांव और प्रदेश का नहीं बल्कि पूरे देश का नाम दुनिया में रोशन किया है। उनसे प्रेरणा लेकर बाकी बच्चे भी खेलों के क्षेत्र में आगे बढ़ेंगे। इससे पहले भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने एशियन बॉक्सिंग चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीतने वाली प्रवीन से भी मुलाकात कर उन्हें बधाई दी। हुड्डा ने कहा कि प्रवीन, मीनाक्षी, प्रीति और स्वीटी बूरा ने एक बार फिर साबित कर दिया है कि हमारी छोरियां छोरों से कम नहीं हैं। देश को हरियाणा की इन बेटियों की प्रतिभा पर नाज है। भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने बताया कि कांग्रेस कार्यकाल के दौरान उन्होंने खेलों और खिलाडिय़ों को आगे बढ़ाने के लिए कई कदम उठाए थे। उनके कार्यकाल के दौरान गांव-गांव में स्टेडियम बनाए गए। स्कूल लेवल पर खिलाडिय़ों को तैयार करने के लिए स्पेट जैसी प्रतियोगिताएं शुरू की गई। खिलाडिय़ों को शुरुआती स्तर पर ही डाइट, भत्ते व कोचिंग की सुविधा दी गई। खिलाडिय़ों के भविष्य को सुरक्षित करने के लिए कांग्रेस सरकार ने ‘पदक लाओ, पद पाओ’ की नीति बनाई। इन नीति के तहत खिलाडिय़ों को डीएसपी जैसे उच्च पदों पर नियुक्तियां दी गई। कांग्रेस ने खेल नीति के तहत 16 डीएसपी, 25 इंस्पेक्टर, 43 सब इंस्पेक्टर, 318 कांस्टेबल यानी 400 से ज्यादा खिलाडिय़ों को सीधे पुलिस विभाग में पदासीन किया। इसके अलावा खिलाडिय़ों के लिए हर महकमे में 3 फीसदी आरक्षण का कोटा निर्धारित किया। खेल कोटे में सैंकड़ों खिलाडिय़ों को नौकरियां हासिल हुईं लेकिन बीजेपी ने सत्ता में आने के बाद खिलाडिय़ों के साथ भेदभाव भरा रवैया अपनाया। बीजेपी ने हरियाणा की खेल प्रतिभाओं को नुकसान पहुंचाने के लिए ‘पदक लाओ, पद पाओ’ की नीति में फेरबदल करके उन्हें डीएसपी जैसे उच्च पद पर नियुक्ति से वंचित कर दिया। नई नीति के तहत पैरा खिलाडिय़ों के साथ अन्यायपूर्ण भेदभाव किया गया।  
हुड्डा ने ऐलान किया कि भविष्य में कांग्रेस सरकार बनने पर फिर से खिलाडिय़ों को वही सम्मान दिया जाएगा। सभी पदक विजेता खिलाडिय़ों को उच्च पदों पर नियुक्ति और खेल कोटे में सरकारी नौकरियां दी जाएंगी। स्कूल स्तर पर ही खिलाडिय़ों को डाइट, भत्ते व कोचिंग उपलब्ध करवाई जाएगी।

Breaking news
राष्ट्रीय समाचार