Pal Pal India

चंडीगढ़ में विधानसभा के लिए हरियाणा की कसरत तेज

प्रशासक से मिले स्पीकर; बोले- पंजाब के जमीन मांगने पर हमें कोई आपत्ति नहीं
 
चंडीगढ़ में विधानसभा के लिए हरियाणा की कसरत तेज

चंडीगढ़, 19 नवंबर। चंडीगढ़ में अलग विधानसभा भवन बनाने के लिए हरियाणा ने कसरत तेज कर दी है। हरियाणा के विधानसभा स्पीकर ज्ञानचंद गुप्ता ने पंजाब के राज्यपाल बीएल पुरोहित से मुलाकात कर इसको लेकर चर्चा की। उन्होंने कहा कि चंडीगढ़ में अलग विधानसभा के लिए यदि पंजाब भी जमीन मांगता है तो हमें कोई आपत्ति नहीं है।
हरियाणा सीएस के लेटर पर की चर्चा
पंजाब के राज्यपाल बनवारी लाल पुरोहित से मुलाकात के बाद स्पीकर ज्ञान चंद गुप्ता ने बताया कि हरियाणा के मुख्य सचिव (ष्टस्) की तरफ से जो विधानसभा भवन के लिए जमीन देने को लेकर पत्र लिखा था उसपर बातचीत की है। पंजाब गवर्नर से कहा है कि कि हरियाणा को विधानसभा के लिए जमीन जल्द से जल्द आवंटित की जाए।
कलाग्राम के पास बनेगा नया भवन
चंडीगढ़ मध्य मार्ग ट्रैफिक लाइट पॉइंट के पास रेलवे स्टेशन रोड जंक्शन के पास हरियाणा सरकार अपना नया विधानसभा भवन बनाना चाहती है। यह कलाग्राम के पास है। यहां 10 एकड़ खाली जमीन पड़ी है जो सरकार को पसंद आई है। नए विधानसभा भवन के निर्माण के लिए सरकार ने चंडीगढ़ प्रशासन को एक लेटर लिखा है। इसमें कहा गया है कि इस जमीन को देने के बदले चंडीगढ़ प्रशासन को पंचकूला के सेक्टर 7 स्थित मनसा देवी कांप्लेक्स में 10 एकड़ जमीन दी जाएगी।
सीएम मनोहर लाल देख चुके जमीन
राज्य के मुख्यमंत्री मनोहर लाल, विधानसभा स्पीकर ज्ञान चंद गुप्ता और चंडीगढ़ प्रशासन के सीनियर अधिकारी जून में नई लोकेशन का दौरा कर चुके हैं। सरकार ने रेलवे स्टेशन रोड जंक्शन पर जमीन को भवन के लिए उचित बताया था। वहीं प्रशासन को कहा था कि इस जमीन के बदले वह उन्हें इतनी ही कीमत की जमीन पंचकूला में देंगे।
केंद्रीय गृह मंत्री कर चुके ऐलान
जुलाई में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने जयपुर में नार्दन जोन काउंसिल (एनजेडसी) की एक बैठक में कहा था कि चंडीगढ़ में हरियाणा को अपने नए विधानसभा भवन के लिए जमीन दी जाएगी। इससे पहले हरियाणा सरकार ने विधान सभा भवन के लिए 3 लोकेशन पर गौर किया था। इनमें रेलवे स्टेशन लाइट पॉइंट से आईटी पार्क को जाती सड़क पर दांई तरफ एक प्लाट, आईटी पार्क में एक साइट तथा मध्य मार्ग पर रेलवे स्टेशन रोड जंक्शन के पास की जमीन शामिल थी।
यह वजह है नए भवन के निर्माण की
हरियाणा सरकार का कहना है कि सेक्टर 1 में बने मौजूदा हरियाणा विधानसभा में मौजूदा 90 विधायकों को बैठाने और भविष्य में इसके विस्तार की संभावनाएं नहीं हैं। पंजाब सरकार ने चंडीगढ़ में हरियाणा विधानसभा के नए भवन के निर्माण का विरोध किया था। बता दें कि मौजूदा बिल्डिंग हैरिटेज बिल्डिंग है, जो पंजाब और हरियाणा के बीच सांझी है।

Breaking news
राष्ट्रीय समाचार