Pal Pal India

जूम मीटिंग से कई राज्यों के किसानों ने आगामी संघर्ष की बनाई रणनीति

पंजाब सीएम का चंदा एकत्रित करने का बयान हास्यास्पद: औलख
 

सिरसा। संयुक्त किसान मोर्चा अराजनीतिक की जूम मीटिंग 21 नवंबर रात्रि 8 से 10 बजे तक हुई, जिसमें पंजाब, हरियाणा, मध्यप्रदेश, गुजरात, ओडिशा, उत्तरप्रदेश, कर्नाटका सहित कई राज्यों के किसान नेताओं ने मीटिंग में हिस्सा लिया। इस मीटिंग में पंजाब में चल रहे धरनों और सरदार जगजीत सिंह डल्लेवाल के आमरण अनशन को लेकर विचार चर्चा हुई। भारतीय किसान एकता बीकेई अध्यक्ष लखविंद्र सिंह औलख ने कहा कि पंजाब में आम आदमी सरकार के मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान ने पिछली मीटिंगों में किसानों की मांगे मान ली थी, लेकिन उन मांगों पर नोटिफिकेशन जारी नहीं किया था, जिसको लेकर पंजाब में संयुक्त किसान मोर्चा अराजनीतिक ने 16 नवंबर को 6 जगहों पर जाम लगाने का अल्टीमेटम दिया था, लेकिन भगवंत मान सरकार ने किसानों की कोई भी मांग नहीं मानी, जिसको लेकर तय समय 16 नवंबर को पंजाब में 6 जगहों पर जाम लगाया गया। आम आदमी पार्टी की सरकार भी बीजेपी की राह पर चलते हुए किसानों की मांगों की अनदेखी कर रही है। मुख्यमंत्री पंजाब सरकार भगवंत सिंह मान ने किसानों के खिलाफ अभद्र शब्दावली का प्रयोग किया है। उन्होंने कहा कि किसान यूनियन चंदा इक_ा करने के लिए धरना लगाती हैं। आम आदमी पार्टी का पूरा आईटी सेल किसानों को बदनाम करने में लगा हुआ है। किसानों की मुख्य मांगों में से पराली जलाने वाले किसानों की जमीनों पर रेड एंट्री और उन पर दर्ज किए मुकदमे वापस हो, भारी बरसात, बाढ़ और बीमारी से खराब हुई नरमा-कपास-धान-किन्नू-आलू व सब्जियों की फसलों का मुआवजा, लंपी स्किन बीमारी से पशुधन के नुकसान का मुआवजा, जुमला मुश्तरका मालकिन और आबादकर किसानों को जमीनों का मालिकाना हक देने के लिए और 2007 की पॉलिसी वाले रद्द किए इंतकाल को बाहाल करवाने के लिएए आंदोलन में शहीद हुए किसानों के परिवारों को मुआवजा और नौकरी के साथ-साथ कई मांगें रखी गई थी, जो कि सरकार ने यह मांगें मानने के बाद भी अपने वादे से मुकर गई है। इन सभी को लेकर सरदार जगजीत सिंह डल्लेवाल 19 नवंबर से आमरण-अनशन पर बैठे हैं, जिसको लेकर संयुक्त किसान मोर्चा अराजनीतिक ने इस मीटिंग में फैसला लिया है कि पूरे देश में भगवंत मान मुख्यमंत्री पंजाब के 23 नवंबर को पुतले फूंके जाएंगे और 24 नवंबर को पूरे देश के किसानों नेता फरीदकोट पंजाब पहुंचेंगे, जहां सरदार जगजीत सिंह डल्लेवाल  आमरण-अनशन पर बैठे हैं और वहां आगे की रणनीति तय की जाएगी। सिरसा के नेहरू पार्क में आयोजित होने वाले इस कार्यक्रम को लेकर भारतीय किसान एकता अध्यक्ष सिंह औलख ने गांवों में जाकर किसानों को आमन्त्रित किया।

Breaking news
राष्ट्रीय समाचार