Pal Pal India

बच्ची के दुष्कर्मी को 10 साल जेल

DSP ने दोषी को बेगुनाह बता दी थी कैंसिलेशन रिपोर्ट; कोर्ट ने लिया स्वयं संज्ञान
 
बच्ची के दुष्कर्मी को 10 साल जेल
फतेहाबाद में 4 साल की मासूम से दुष्कर्म करने वाले युवक को कोर्ट ने10 साल की सजा सुनाई है। केस में खास बात है कि डीएसपी ने मामले की जांच कर युवक को क्लीन चिट दे दी थी। बाद में कोर्ट ने इस मामले में स्वयं संज्ञान लिया और दोषी पाए जाने पर रवि कुमार को पोक्सो एक्ट की धारा 6 के तहत सजा दी। साथ ही कोर्ट ने जुर्माना भी लगाया है।
झूठ बोलकर ले गया पड़ोसी
जानकारी के मुताबिक एक अबोध बालिका की मां ने 3 जून 2019 को महिला थाना फतेहाबाद में शिकायत दर्ज करवाई थी कि उसकी बेटी पडोसी के घर खेलने गई थी। वहां से आरोपी रवि कुमार उसकी बेटी को यह कहकर ले गया कि उसे उसकी मां खेत में बुला रही है। खेत में जाते हुए रास्ते में आरोपी ने बालिका के प्राइवेट पार्ट से छेड़छाड़ की और बच्ची से दरिंदगी की।
पुलिस ने कोर्ट में दी कैंसिलेशन रिपोर्ट
इस पर महिला थाना ने आरोपी रवि के खिलाफ पोक्स एक्ट की धारा 4 के तहत मामला दर्ज किया था। इस मामले की जांच करते हुए डीएसपी दलजीत सिंह ने आरोपी रवि कुमार को बेकसूर ठहराते हुए अपनी रिपोर्ट में लिखा कि शिकायकर्ता द्वारा गलत फहमी में आरोप लगाना पाया गया है। पुलिस ने कोर्ट में कैंसिलेशन रिपोर्ट भी कोर्ट मे सब्मिट कर दी थी।
कोर्ट ने खुद शुरू किया ट्रायल
अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश व फास्ट ट्रैक स्पैशल कोर्ट के जज बलवंत सिंह की कोर्ट ने कैंसिलेशन रिपोर्ट को रद्द करते हुए मामले पर स्वंय संज्ञान लेकर आरोपी और शिकायतकर्ता को नोटिस भेजकर ट्रायल शुरू कर दिया। इस ट्रायल कि सुनवाई उपरांत शनिवार को कोर्ट ने पुलिस की क्लीन चिट को दरकिनार कर रवि कुमार को दोषी करार देकर सजा सुनाई
Breaking news
राष्ट्रीय समाचार