Pal Pal India

हरियाणा में साढ़े 10 हजार करोड़ का बोगस टैक्स घोटाला

ईडी ने एचसी को स्टेटस रिपोर्ट दी; जांच में सहयोग न मिलने का आरोप
 
हरियाणा में साढ़े 10 हजार करोड़ का बोगस टैक्स घोटाला

चंडीगढ़। हरियाणा के सबसे चर्चित 10,618 बोगस टैक्स क्लेम स्कैम में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट में स्टेटस रिपोर्ट दाखिल कर दी है। ईडी की ओर से कहा गया है कि हरियाणा का एक्साइज एंड टैक्सेशन डिपार्टमेंट स्कैम की जांच में सहयोग नहीं कर रहा है। हाईकोर्ट ने अब इस मामले में सुनवाई शुरू करने के लिए कहा है।
लोकायुक्त को भी नहीं किया सहयोग
पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट के एडवोकेट रापडिय़ा ने बताया कि इससे पहले लोकायुक्त की जांच में भी हरियाणा के एक्साइज एंड टैक्सेशन डिपार्टमेंट में सहयोग नहीं किया था। अब फिर प्रवर्तन निदेशालय की जांच में भी विभागीय अधिकारी साथ नहीं दे रहे हैं। एडवोकेट रापडिय़ा इस केस में पिटीशनर रघुवीर सिंह की तरफ से हैं।
2015 में हुआ था खुलासा
हजारों करोड़ के इस टैक्स स्कैम का खुलासा जनवरी 2015 में हुआ था। एसआईटी लोकायुक्त की रिपोर्ट में स्केम सामने आया था। रिपोर्ट के मुताबिक 2012-13 के दौरान यह घोटाला अंजाम दिया गया। क्लेम के लिए दूसरे राज्यों में बोगस फर्में बनाई गईं, जहां ये शो किया गया कि कंपनी ने एडवांस टैक्स दे दिया है। जबकि जांच में फर्में ही नहीं बनाई गई थी।
अब तक हरियाणा में 74 एफआईआर
हरियाणा सरकार इस मामले में 74 एफआईआर दर्ज कर चुकी है। अब तक कैथल, हिसार और पानीपत में 3-3, सिरसा में 16, रेवाड़ी में 2, झज्जर में 4, गुरूग्राम में 26 और फरीदाबाद में 17 एफआईआर दर्ज की जा चुकी हैं।

Breaking news
राष्ट्रीय समाचार