Pal Pal India

रूस-यूक्रेन संघर्ष के एक साल पूरा होने पर जंग और तेज होने के आसार

 
रूस-यूक्रेन संघर्ष के एक साल पूरा होने पर जंग और तेज होने के आसार

कीव, 01 फरवरी। यूक्रेन-रूस के बीच जारी संघर्ष के करीब एक साल पूरे से पहले एक बार जंग और तेज होने के आसार हैं। उल्लेखनीय है कि पिछले साल 24 फरवरी को रूस ने यूक्रेन पर हमला किया था। रूस ने पूर्वी यूक्रेन के लुहांस्क रीजन में सेना की तैयारियों को बढ़ा दिया है। क्रेमलिन की ओर से बुधवार को कहा गया कि अगर अमेरिका ने यूक्रेन को लंबी दूरी के राकेट दिए तो इससे संघर्ष और भड़क जाएगा। लुहांस्क के गवर्नर सेरही हैदेई ने आरोप लगाया है कि रूसी सेना अपने कब्जे वाले क्षेत्र में स्थानीय निवासियों को उनके घरों से निकाल रही है, जिससे रूसी सेना की गतिविधियों की जानकारी न मिल सके। हैदेई ने कहा कि रूसी सेना की बढ़ती गतिविधियां संकेत दे रही हैं कि वे फरवरी में पूर्वी मोर्चे पर खास तैयारी में हैं। यूक्रेन सेना के जनरल स्टाफ ने बुधवार को रिपोर्ट दी कि रूस ने पड़ोसी डोनेस्क प्रांत में खासतौर पर बाखमुट के आसपास अपनी गतिविधियां केंद्रित कर रखी हैं। बाखमुट में रूसी सेना की गोलाबारी के चलते ज्यादातार निवासी पलायित हो गए हैं या शेल्टर में रह रहे हैं। वही, नाटो महासचिव जेंस स्टोल्टेनबर्ग ने टोक्यो में बुधवार को हिंदू-प्रशांत क्षेत्र में गठबंधन को और मित्र मिलने की उम्मीद जताई है। क्रेमलिन के प्रवक्ता दिमित्री पेस्कोव ने कहा कि रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन का अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन से वार्ता की कोई योजना नहीं है। माना जा रहा है कि यूक्रेन को अमेरिका के 2.2 अरब डालर के सैन्य पैकेज में लंबी दूरी के राकेट शामिल होंगे। वहीं, क्रेमलिन ने रूसी कंपनी के पश्चिमी टैंक नष्ट करने पर सैनिकों को बाउंटी पेमेंट यानी इनाम की घोषणा का स्वागत किया है।