Pal Pal India

डबवाली रोड पर चौ.देवीलाल टाउन पार्क की पार्किंग पर कब्जा

छोटे हाथी वालों का एकछत्र राज, पार्क में सैर पर आने वाले भी परेशान
 

 
डबवाली रोड पर चौ.देवीलाल टाउन पार्क की पार्किंग पर कब्जा

हुडा के अधिकारी आज तक नहीं कर पाए कोई कार्रवाई, कौन वसूल रहा है पार्किंग शुल्क

 डबवाली रोड पर लालबत्ती के समीप स्थित ताऊ चौ.देवीलाल टाऊन पार्क कभी नगर की शान और जान हुआ करता था पर देखभाल के अभाव में अपनी पहचान खोता जा रहा है। इस पार्क की पाॄकग पर लोगों ने अवैध कब्जा किया हुआ है। पार्क में आने  वाले लोगों के लिए पार्किंग बनाई गई थी पर आज इस पर टाटा एस (छोटे हाथी) वाले वाहन संचालकों ने कब्जा किया हुआ है। इस पार्किंग से बाहर या पार्क की चारदीवारी से बाहर खड़े करने पर उनकी चोरी होने की संभावना ज्यादा रहती है। अनेक वाहन चोरी हो चुके है।

इस चौक पर हर समय पुलिसकर्मी तैनात रहते है, श्री सालासर मंदिर में वीआईपी आते जाते रहते हैं पर उन्हें पार्किंग में अवैध कब्जा दिखाई नहीं देता। तत्कालीन मुख्यमंत्री चौ.ओमप्रकाश चौटाला के राज में डबवाली रोड पर लालबत्ती चौक के समीप पुरानी जेल तोड़कर  ताऊ चौ.देवीलाल टाऊन पार्क का निर्माण कराया गया था। यह पार्क नगर की शान भी था और जान भी था। पर अधिकारियों की अनदेखी से पार्क जर्जर होता जा रहा है।

छोटे हाथी वालों का एकछत्र राज

पार्क के ठीक सामने काफी खाली जगह है जहां पर पत्थर लगा हुआ है। मिल्क बूथ से लेकर सालासर मंदिर की दीवार तक खाली जगह पाॢकंग के लिए निर्धारित की गई ताकि पार्क में आने वाले लोग वहां पर अपने वाहन खड़ा कर सके। पर इस जगह पर छोटा हाथ वाहन चालकों ने कब्जा किया हुआ है। पाॢकंग स्थल और उसके बाहर तक वाहनों की कतार लगी रहती है। अन्य क ोई वाहन वहां पर खड़ा नहीं किया जा सकता यहां तक दुपहियां वाहन तक खड़े होने की जगह नहीं बचती। रही सही कसर सामने के दुकानदार पूरी कर देते है  जो अपने वाहन वहां पर खड़ा कर देते है। अगर दुपहिया वाहन बाहर सड़क पर खड़े किए तो उनके चोरी होने का खतरा रहता है। यातायात पुलिस को भी इस ओर ध्यान देना चाहिए। आज इन वाहन चालकों ने पार्किंग स्थल पर कब्जा किया हुआ है तो कल को ये किसी की दुकान के आगे भी वाहन खडा करेंगे।

आजकल श्री सालासर मंदिर के पास जीर्णोद्धार का काम चल रहा  है सामने सड़क बनाई जा रही है तो रोटी बैंक वाले स्थान को खाली कराकर वहां इंटरलोङ्क्षकग की जाएगी।  वहां पर काम हो रहा है ऐसे में वहां पर वाहन खड़े नहीं दिए जा रहे है ऐसे में सारे वाहन भीतर पार्किंग स्थल पर खड़े किए जा रहे है। जो न तो हुडा को और न ही  नगर परिषद को कोई शुल्क देते है। जमीन सरकारी है और उपयोग कोई और कर रहा है। यह भी प्रशासन को देखना चाहिए। उधर  पार्क की दूसरी ओर यानि रेलवे स्टेशन की ओर भी पार्किंग स्थल पर रेहडी वालो का कब्जा रहता है। ऐसे में पार्क आने वाले लोगों और पार्क में स्थित पीर मंदिर में आने वाले श्रद्धालुओं को काफी परेशानी है।
 

Breaking news
राष्ट्रीय समाचार